What is Knock Knees and Causes, Treatments IN HINDI

Knock Knees:- घुटनों का आपस में टकराना Posture संबंधी मुख्य Disorder में से एक है। Knock Knees में, खड़े हुए सामान्य अवस्था में, दोनों घुटने आपस में टकराते है। टखनों ( Ankles ) के बीच अंतर बढ़ता जाता है। व्यक्ति को चलने और दौड़ने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। वह Correct ढंग से न तो चल सकता है और न ही दौड़ सकता है। Read also:- Importance of Exercise on Children and Benefits Read also:- Kyphosis ( पीछे की ओर कूबड़ )

Causes of Knock Knees

In general, Knock Knees घुटनों का टकराना Specially: संतुलित आहार में विशेष रूप से विटामिन ‘डी’, कैल्शियम और फॉरस्फोरस की कमी के कारण होता है। यह रिकेट्स ( Rickets ) के कारण भी हो सकता है। पुरानी बीमारी, मोटापा ( Obesity ), चपटे पैर और कम आयु में अधिक Weight को उठाने के कारण भी घुटनों के टकराने के संभाविक कारण हो सकते है।

In general, Knock Knees घुटनों का टकराना Specially: संतुलित आहार में विशेष रूप से विटामिन 'डी', कैल्शियम और फॉरस्फोरस की कमी के कारण होता है।

Precautions of Knock Knees

  • संतुलित भोजन लेना चाहिए।
  • कम आयु में शिशुओं को पैदल चलाने की कोशिश नहीं करना चाहिए।
  • कम आयु में अधिक Weight नहीं उठाना नहीं चाहिए।
  • मोटापा ( Obesity ) से बचना चाहिए।
  • नियमित Exercise करना चाहिए।

Read also:- Top 13 Causes of Bad Posture

Read also:- Top 10 Advantages of Correct Posture

Treatments of Knock Knees

इस Disorder को दूर करने के लिए इन Exercises पर ध्यान देना चाहिए :

  • इस Disorder को दूर करने के लिए घुड़सवारी ( Horse-riding ) करना सबसे अच्छा Exercise है।
  • कुछ समय के लिए नियमित रूप से पदमासन और गोमुखासन जरूर करना चाहिए।
  • कुछ सीमा का कॉड लिवर ऑयल भी इस Disorder को दूर करने में सहायक होता है।
  • दोनों घुटनों के बीच में Pillow रखें और कुछ समय के लिए बिल्कुल सीधे खड़े रहे।
  • वाकिंग कैलिपर्स ( Walking Calipers ) का Use भी लाभदायक होता है।
  • गंभीर Disorder के लिए, डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

Read also:- Psychological Benefits of Exercise in Hindi

Read also:- Stress Management Techniques in Hindi

Leave a Reply

Close Menu
11 Shares
Share via
Copy link