Top 6 Benefits of Weight Training Exercises IN HINDI

Weight Training

Weight Training का मतलब उन Exercises से है जो विशेष रूप से मांसपेशियों को शक्तिशाली बनाते हैं यह Bar-Bell और Dumb-Bell की मदद से किया जाता है। इस Exercise से शरीर के अलग-अलग हिस्सों के आकार में बदलाव होता और इसके द्वारा अविकसित व्यक्ति Normal होने की कोशिश करता है। Weight Training से मांसपेशियाँ बनती है, उनके आकार में और शरीर के वेट में भी बदलाव होता है। एक एथलीट Weight Training का प्रयोग शक्ति बढ़ाने के लिए कोशिश करता है और चुने हुए खेल में अच्छा Performance करने के लिए अपने आप को तैयार करता है। यह Exercise Physical Fitness को भी बढ़ाता है।

READ ALSO :- Psychological Benefits of Exercise in Hindi

READ ALSO :- Top 10 Importance of Exercise on Children and Benefits

Benefits of Weight Training

1. Helps in Getting Good Shape

Weight Training एक Extraordinary Training है। यदि सही ढ़ग से Schedule साथ में सही भोजन भी अपनाए जाए तो लोगों के लिए यह Exercise सब कुछ कर सकता है। जैसे मोटे व्यक्ति पतले हो सकते है। और यदि व्यक्तियों को वजन बढ़ाने की इच्छा हो तो वजन बढ़ा सकते है कमजोर व्यक्ति शक्तिशाली बन सकता है। वास्तव में , Weight Training प्रत्येक व्यक्तियों के पूरे शरीर को Good Shape बनाने में सहायता करता है। यह शरीर के केवल ऊपरी हिस्से के लिए ही नहीं बल्कि शरीर के निचले हिस्से के लिए भी लाभदायक होता है।

Weight Training एक Extraordinary Training है।

2. Providing Fitness Weight Training

Weight Training में समय की बचत होती है और यह कम समय में किया जा सकता है। Gym में एक सप्ताह में केवल तीन बार यह Exercise करने से अधिकतम शक्ति पा सकते है। यह Health से संबंधित सभी घटको या अंगों ; जैसे – मांसपेशीय शक्ति और शारीरिक बनावट को बढ़ाता है।

3. Help To improve Sports Performance

एक अच्छा Weight Training Program खेलकूद के Performance में सुधार लाने में सहायक होता है। खेलकूद Performance में यह Exercise के अनेक लाभ है। जैसे – फेकने वालो, कूदने वालों, कुश्ती करने वालों , फुटबॉल, बास्केटबाल और कई प्रकार खेलों के खिलाड़ियों के लिए Performance के लिए यह Exercise बहुत महत्वपूर्ण है।

एक अच्छा Weight Training Program खेलकूद के Performance में सुधार लाने में सहायक होता है।

4. The Best way to Develop Strength

आज वेट Training को शक्ति को बढ़ाने का Best तरीका माना जाता है, पर इसके लिए कोचों और शारीरिक ट्रेनरों से Guidance की जरूरत होती है। इस Exercise का अपना ही महत्व है, पर इसे carefully और सही तरीके से करना चाहिए। In fact शक्ति, और सहन-क्षमता को सुधारने के लिए यह एक Best तरीका है और यह Exercise न केवल खेलों बल्कि जीवन के हर क्षेत्र में दूसरे Exercise की अपेक्षा बेहतर है।

5. Increases Bone Density

हड्डियों के Density में वृद्धि करता है। इस क्षेत्र में किए गए Research studies से पता चलता है कि सप्ताह में कम-से-कम तीन बार यह Exercise करने वाले व्यक्तियो में हड्डी सुषिरता ( Osteoporosis ) का जोखिम Relatively कम होता है।

READ ALSO :- Top Important Factors Affecting Child’s Growth and Development IN HINDI

6. Reduces Stress and Tension

वेट Training Stress और Tension को भी कम करने में लाभदायक है। In Fact यह Stress और Tension को कम करने में बहुत सहायक है।

Reduces Stress and Tension

READ ALSO :- Stress Management Techniques IN HINDI.

Disadvantages of Weight Training

Undoubtedly, Weight Training के कई लाभ है, पर दूसरी ओर इसकी कुछ हानियाँ भी है जो नीचे दी गई है :-

1. Risk of Injuries

Weight Training के दौरान चोट लगने का खतरा हरदम बना रहता है। Specially उस समय जब आप बिना किसी सहयोगी के बिना यह Exercise कर रहे हैं। उस समय यदि आप अकेले हो तो आपको चोट लग सकती है। इसलिए आप के साथ हमेशा ही एक सहयोगी होना चाहिए जो ज़रूरत पड़ने पर आपकी सहायता कर सके।

2. Less Flexibility

यदि Weight Training के साथ-साथ लचीलेपन की Exercise न किया जाए तो लचीलेपन के स्तर को कम कर देता है। यदि इसके लाभों की तुलना में यह एक ज्यादा important कमी नहीं है।

यदि Weight Training के साथ-साथ लचीलेपन की Exercise न किया जाए तो लचीलेपन के स्तर को कम कर देता है।

Everyone asks This Question

  • किस आयु के बच्चों को Weight Training करना चाहिए?
  • क्या weight training से किशोरावस्ता के बच्चों की मांसपेशियों की शक्ति बढ़ाया जा सकता है?

अभी-अभी हुए Research से यह Completely clear होता है की यह Exercise से किशोरावस्ता की मांसपेशियों की शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। यह Exercise 12 से 15 वर्ष के आयु से भी शुरू किया जा सकता है, लेकिन यह Exercise केवल एक Experienced Trainer की देख-रेख में ही करना चाहिए। बच्चों को सबसे पहले ठीक तकनीक के ऊपर विशेष ध्यान देना चाहिए। Weight Training की प्रक्रिया यदि एक बार बच्चा सीख लेता है तो बाद में काई विशेष समस्या नहीं आती। बच्चों को अधिक चोट तब लगती है जब आपस में अधिक से अधिक Weight उठाने की कोशिश करते है।

READ ALSO :- Anorexia Nervosa – Prevention and Treatment IN HINDI.

READ ALSO :- Top 10 Advantages of Correct Posture.

Leave a Reply

Close Menu
16 Shares
Share via
Copy link