Kyphosis ( पीछे की ओर कूबड़ )

कूबड़ पीछे को ( Kyphosis ) इस प्रकार के कूबड़ ( Kyphosis ) में रीढ़ की हड्डियाँ पीछे की ओर हो जाती है। इस Condition में छाती सीधी नहीं होती। सिर और गर्दन आगे की ओर झुकी होती है। ऐसी अवस्था में साँस लेने में परेशानी होती है। इस प्रकार कूबड़ ( Kyphosis ) में छाती का दबा होना आम होता है।

Read also- Top 13 Causes of Bad Posture

Read also- Top 10 Advantages Correct Postures

Causes of Kyphosis

  • कुपोषण, बीमारी
  • स्वच्छ वायु की कमी
  • रिकेट्स
  • कंधो पर बहुत ज्यादा weight ले जाना
  • improper फर्नीचर
  • मांसपेशियों का कमजोर होना
  • लड़कियों में शर्मिलापन
  • आगे झुककर काम करने की आदतों का होना

यह सब पीछे की ओर के कूबड़ ( Kyphosis ) के मुख्य कारण होते है।

कूबड़ पीछे को ( Kyphosis ) इस प्रकार के कूबड़ ( Kyphosis ) में रीढ़ की हड्डियाँ पीछे की ओर हो जाती है।
Kyphosis

सावधानियाँ ( Precautions Kyphosis )

यदि Specific सावधानियों का पालन न किया जाए, तो कूबड़ पीछे को ( Kyphosis ) हो सकता है। इसलिए माता-पिता को इस विषय पर ध्यान देना चाहिए। शुरू से ही उन्हें बच्चों को बैठने, खड़े होने व चलने के सही Posture को सीखना चाहिए, ताकि उनके Posture Correct रह सकें। बच्चों को व्यायाम भी करना चाहिए, क्योंकि व्यायाम न केवल Correct Posture को बनाए रखने में सहायक होता है, पर पीछे की ओर के कूबड़ ( Kyphosis ) की समस्या को भी नियंत्रित करता है।

उपाय ( Solution Kyphosis )

पीछे की ओर के कूबड़ के उपाय

  1. कुर्सी पर इस प्रकार बैठे, ताकि पीठ का सबसे निचला भाग कुर्सी की पीठ को completely touch कर सके। ऊपर की ओर देखते हुए, अपने दोनों हाथों को पीठ के पीछे इस तरह से पकड़े, ताकि आपके कंधे पीछे की ओर खिचे हुए रह सकें। कुछ समय के लिए इसी situation में रहे।
  2. सोने के दौरान अपनी पीठ के नीचे हमेशा तकिया जरूर रखें।
  3. खड़े हुए स्थिति में अपना सिर पीछे की ओर मोड़ें और कुछ समय इसी स्थिति बनाए रखें।
  4. धनुरासन ( योग आसन ) को नियमित रूप से करें।
  5. छाती के बल लेट जाए। अपने हाथों को कंधो पास रखें। अब अपनी छाती को, बाजुओं को धीरे-धीरे सीधा करते हुए ऊपर उठाए। सिर definitely पीछे की ओर होना चाहिए। कुछ समय तक इस स्थिति को बनाए रखे।
  6. कंधों के स्तर पर दोनों हाथों को बराबर में फैलाए, फिर कोहनियों से बाजुओं को मोड़ें, फिर कोहनियों को पीछे की ओर थोड़ा झटका लगाए और वापिस शुरू वाले Condition में आए और अच्छे परिणाम के लिए इसी क्रिया को कम-से-कम 8 बार जरूर दोहराए।
कुर्सी पर इस प्रकार बैठे, ताकि पीठ का सबसे निचला भाग कुर्सी की पीठ को completely touch कर सके।
Kyphosis

Read also- Dimensions Personality Hindi

Leave a Reply

Close Menu
15 Shares
Share via
Copy link